ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
होम स्टे टूरिज्म :पढ़ें
October 19, 2019 • मुख्य संपादक राजीव मैथ्यू

होम स्टे टूरिज्म' प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 

देहरादून l दिनांक 19 अक्टूबर 2019, गांधी रोड स्थित स्थानीय होटल में उत्तराखण्ड पर्यटन विकास बोर्ड और उत्तराखण्ड राज्य महिला, आयोग के संयुक्त तत्वाधान में 'होम स्टे टूरिज्म' प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विजया बड़थ्वाल और सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर द्वारा प्रतिभाग करते हुए कार्यशाला का शुभारम्भ किया गया। कार्यशाला में उत्तराखण्ड राज्य से 'होम स्टे' का संचालन कर रहे सदस्यों ने प्रतिभाग करते हुए Airbnd संस्था से उनके प्लेटफार्म पर पंजीकरण करवाने की प्रक्रिया का प्रशिक्षण प्राप्त किया तथा अपने अनुभव भी आदान-प्रदान किया। इस दौरान सचिव पर्यटन ने अपने सम्बोधन में कहा कि होम स्टे हमारे प्रदेश के लिए कोई नई अवधारणा नही है यह प्राचीनकाल से ही हमारी यजमान तथा अतिथि देवो भवः के रूप में विद्यमान रही है।

जिस परम्परा में हम पर्यटकों को अपने घर के सदस्यों और अपने खास मेहमानों की तरह रखते थे। आज जरूरत है हमें उसी परम्परा को फिर से नये तरीके से अपनायें। यजमान (अपने से करीब जुड़े हुए) की यह परम्परा हम डिजिटल परम्परा से भी जोड़े ।हम केवल ठहरायें नही बल्कि उन्हें अपनी संस्कृति, अपने इतिहास और अपनी मौलिक पहचान से जोड़े और अपनों की ही तरह उन्हें स्वीकारें। उन्होंने उदाहरण दिया कि लोग आज 5 स्टार होटल में नहीं आना चाहते, लोग आज वहां जाना चाहते हैं जहां कुछ नया अनुभव प्राप्त हो, नये लोग मिले, नया वार्तालाप हो, नया अलग हटकर दिखे। बस हमें उनकी इसी मांग को पूरा करना है अपने-आप रजिस्टेªशन करते हुए व्यवस्था के तहत् पर्यटकों को आकर्षित करना है और इसके लिए सरकार की ओर से भी हरसंभव प्रेरित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। 
कार्यशाला में राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा विजया बड़थ्वाल ने कहा कि हमारी कोशिश होनी चाहिए कि हम अपनी पुरानी मेहमानानवाजी परम्परा को कैसे आकर्षक और नये कलेवर में पेश करें और 'होम स्टे पर्यटन' के तहत् किस तरह महिला सशक्तिकरण को भी बढावा मिले इस तरीके से कार्य करें। उन्होंने अपेक्षा की कि होमस्टे संचालकों को हर हाल में किसी न किसी पोर्टल पर अवश्य पंजीकरण व्यवस्था चाहिए ताकि सरकार की किसी भी संभव सहायता से लाभान्वित भी हो सकें तथा एक व्यवस्था के अन्तर्गत आते हुए एक सुरक्षित, सुलभ और प्रफूल्लित पर्यटन को बढावा भी दिया जा सके।
इस अवसर पर सदस्य संयुक्त निदेशक उत्तराखण्ड पर्यटन विकास बोर्ड, विवेक चैहान, जिला पर्यटन अधिकारी किशन सिंह रावत, राष्ट्रीय महिला आयोग से मोक्षदा मिश्रा,  Airbnd     के सदस्यों सहित बडी संख्या में होम स्टे संचालक महिलाएं उपस्थित थी।