ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
शराब तस्कर गिरफ्तार
September 14, 2019 • मुख्य संपादक राजीव मैथ्यू

12 पेटी अवैध देसी शराब के साथ तस्कर गिरफ्तार

(फोटो-: पुलिस की गिरफ्त में शराब तस्कर)

सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो देहरादून न्यूज 14 /09 /2019 

देहरादून। आगामी त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव 2019 के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के द्वारा जनपद के सभी थानों को अवैध नशा (शराब, स्मैक, चरस, गांजा, आदि) तस्करों के विरुद्ध सघन चेकिंग अभियान चलाकर उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही कर नशे को जड़ से समाप्त करने का अभियान चलाया जा रहा है।

इसी क्रम में कोतवाली ऋषिकेश द्वारा थाना/चौकी क्षेत्र मे लगातार चेकिंग प्वाइंट बदल-बदल कर व अलग-अलग पुलिस टीम बनाकर सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। इसी दौरान ऋषिकेश पुलिस द्वारा आशुतोष नगर तिराहे पर चेकिंग के दौरान एक बिना नंबर की मारुति वैन को चेकिंग के लिए रोका तो उसमें से एक व्यक्ति उतरकर अंधेरे का फायदा उठाकर भागने लगा किंतु पुलिस ने ततपरता दिखाते हुए मौके पर ही चालक को पकड़ लिया। चेकिंग के दौरान पुलिस को उक्त मारुति वैन के अंदर से बारह (12) पेटी अवैध देसी शराब (576 पव्वे) जाफरान बरामद हुई।

पुलिस ने आरोप की पहचान
सनी पुत्र करण सिंह निवासी गली नंबर 4 चंद्रभागा ऋषिकेश, उम्र 21 वर्ष के रूप में की। वहीं आरोपी का एक साथी मनोज भगवत उर्फ कालिया पुत्र भगवत निवासी नई जाटव बस्ती ऋषिकेश पुलिस के कब्जे से फरार होने में कामयाब हो गया।

तलाशी के दौरान पुलिस ने आरोपी के कब्जे से 
बारह (12) पेटी अवैध देसी शराब (576) पव्वे जाफरान व एक मारुति वैन बिना नंबर प्लेट की बरामद की है। पुलिस द्वारा मध्य निषेध क्षेत्र में 12 पेटी अवैध देसी शराब कीमत लगभग- 70,000/- (सत्तर हजार रुपये) आँकी गयी।

पूछताछ में पकड़े गए शराब तस्कर ने बताया कि बरामद शराब वो आगामी पंचायत चुनाव के दृष्टिगत लेकर आए थे। क्योंकि ऋषिकेश मद्य निषेध क्षेत्र है और चुनाव के दौरान इस शराब की अच्छी कीमत मिल जाती। पकड़े गए आरोपी सनी द्वारा बताया गया कि यह शराब गाड़ी से भागने वाले साथी की हैं, जिसका  नाम मनोज भगवत उर्फ कालिया है।

उपरोक्त दोनों आरोपियों के विरुद्ध कोतवाली ऋषिकेश में आबकारी अधिनियम की धारा 60/72 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। पकड़े गए शराब तस्कर को न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि फरार अभियुक्त मनोज भगवत उर्फ कालिया कोतवाली ऋषिकेश का हिस्ट्रीशीटर (दुराचारी) भी है। जिसके विरुद्ध कोतवाली ऋषिकेश में कई मुकदमे पंजीकृत हैं।