ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
पुलिस ने सुलझाई कामना हत्याकांड हत्याकांड की गुत्थी
September 4, 2019 • सेवा भारत टाइम्स

पुलिस ने सुलझाई कामना हत्याकांड हत्याकांड की गुत्थी

   

(फोटो-4: पुलिस की गिरफ्त में आरोपी)

सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 

देहरादून। पुलिस ने  कामना मर्डर केस की गुत्थी सुलझा दी है। मृतका की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि उसके पति अशोक ने ही कराई थी। वहीं, जिस रिंकू पर वो हत्या का आरोप लगा रहा था, उसे तो पहले ही मौत के घाट उतार दिया गया था। अशोक के कहने पर उसके दोस्त गौरव और दीपक ने कामना की हत्या की थी। फिलहाल, पुलिस ने अशोक और उसके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है।

ट्रांसपोर्ट कारोबारी अशोक रोहिला की पत्नी कामना नेहरू कॉलोनी के माता मंदिर रोड पर बुटीक चलाती थी। 29 अगस्त की रात को उसकी हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले की तह तक पहुंचने के लिए एक के बाद एक कर कड़ियों को जोड़ना शुरू कर दिया था, जिसके बाद पुलिस को पता चला कि इस हत्या को सोची समझी साजिश के तहत उसके पति ने ही अंजाम दिया था।

पत्नी को मौत के घाट उतारने से कई महीनों पहले ही अशोक ने पूरी प्लानिंग कर ली थी। इसके लिए उसने अपनी बुआ के बेटे रिंकू उर्फ अजय को अपना मोहरा बनाया। उसने पिछले साल चार नवंबर को अपने दोस्तों से रिंकू की हत्या करवा दी थी। वो जानता था कि अगर वो रिंकू पर आरोप लगाएगा तो वो पुलिस को मिलेगा ही नहीं और पुलिस कभी उस तक नही पहुंच पाएगी। 

कामना के पति अशोक ने पुलिस को बताया था कि 29 अगस्त रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अशोक की बुआ केे देवर का लड़का रिंकू निवासी अमन विहार, रायपुर अशोक के घर आया। उसके साथ दो लोग और थे। अशोक ने रिंकू को घर में बुला लिया। रिंकू के पानी मांगने पर अशोक किचन में पानी लेने चला गया। तभी रिंकू ड्राइंग रूम से उठकर बेडरूम में गया और वहां अपनी तीन साल की बच्ची के साथ सो रही कामना के सिर से रिवाल्वर सटाकर गोली मार दी। 

गोली की आवाज सुनकर अशोक वहां पहुंचा तो रिंकू ने अशोक पर भी फायर झोंक दिया। गोली अशोक की कमर को भेदते हुए पेट से पार हो गई। अशोक का आरोप था कि इसके बाद रिंकू ने घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर उखाड़ी और दोस्तों के साथ फरार हो गया। वारदात के बाद अशोक ने अपने साले अमन को फोन किया। अमन मौके पर पहुंचा और अशोक को वहीं छोड़ कामना को लेकर अस्पताल चला गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मामले में नेहरू कॉलोनी पुलिस ने अमन की तहरीर पर रिंकू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। पुलिस ने भी हर पहलू को जोड़ते हुए इस मामले की जांच शुरू कर दी थी। धीरे-धीरे कर मामले से सभी परतें उठने लगी और खुलासा हुआ कि हत्या अशोक ने ही की थी।