ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
ताजा हरा धनिया तथा अजवाइन केे गर्म पानी से कई हेल्थ प्रॉब्लम्स दूर  l
August 13, 2019 • seva bharath times

 

ताजा हरा धनिया तथा अजवाइन केे गर्म पानी से कई हेल्थ प्रॉब्लम्स दूर  l

 

       

 

                     


ताजा हरा धनिया तथा अजवाइन का गर्म पानी रेग्युलर पिया जाए तो यह बॉडी को कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स भी देता है। इसमें मौजूद पोटैशियम, विटामिन C, कैल्शियम और मैग्नीशियम बॉडी के कई हेल्थ प्रॉब्लम्स को दूर करते हैं।

मूत्र रोग में 10 ग्राम धनिया, तथा 10 ग्राम गोक्षुर के फलों को 400 मिली पानी में पकाएं। जब यह एक चौथाई बचे तो 20-30 मिली काढ़ा में घी मिलाकर सुबह-शाम पिलाएं। इससे मूत्र रोग में लाभ होता है।  यह पानी थाइरॉइड के उपचार के लिए काफी लाभकारी होता है। हिमालयायूके की विशेष प्रस्‍तुति- मो 9412932030; For Whatsup News; send us Msg

हरे धन‍िये की पत्तियां और बीज दोनों ही खाने का स्‍वाद बढ़ा देते हैं. खाने में भले ही मिर्च-मसाला न हो लेकिन अगर धनिया पत्ती से गार्निश‍िंग की जाए तो उसकी खूबसूरती और स्‍वाद में चार चांद लग जाते हैं. लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि धनिया सिर्फ खाने की खूबसूरती और स्‍वाद ही नहीं बढ़ाता बल्‍कि इसका पानी आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद गुणकारी है. धन‍िया के पानी में पोटैश‍ियम, कैल्‍श्यिम, विटामिन सी और मैग्‍नीजियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है और ये सभी तत्‍व बीमारियों को कोसों दूर रखते हैं. धनिये का पानी पीने के ढेरों फायदे हैं

आप सभी लोग धनिया (Dhaniya or Dhania) का सेवन करते ही होंगे, क्योंकि धनिया की चटनी बहुत ही स्वादिष्ट होती है, और सभी को पसंद आती है। आमतौर पर लोग धनिया के पत्ते की चटनी, या इसके बीज को मसाले के रूप में प्रयोग में लाते हैं, क्योंकि अधिकांश लोगों को यह पता ही नहीं है कि आहार के अलावा भी धनिया के इस्तेमाल के फायदे मिलते हैं। क्या आप जानते हैं कि धनिया को औषधि के रूप में भी प्रयोग में लाया जाता है, 

रातभर धनिए को पानी में भिगोकर रखें और सुबह उस पानी को पी लें, यह पानी आप दिन में दो बार पी सकते हैं । आप इसे सुबह और शाम पी सकते हैं। आप चाहें तो धनिए की चाय भी पी सकते हैं इसके लिए गर्म पानी में 5 मिनट तक धनिया उबाले और फिर उसे छानकर पी लें। ऐसे करने से हाइपरथाइरॉइज्म जैसी परेशानी से निजात मिलती है। coriander water धनिया के पानी में विटामिन ए और विटामिन के होता है जो कि कैल्शियम संश्लेषण में शरीर की मदद करते हैं । कैल्शियम हड्डियों के लिए जरुरी होता है इसलिए धनिए का पानी पीने से ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव होता है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है।

6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है।

 

               


6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है। 6 से 7 ग्राम धनिया के बीज को पानी में उबालकर इस गर्म पानी को ही पीने से अनियमित पीरियड्स की परेशानी से राहत मिलती है। यह एस्ट्रोजन हार्मोन के स्राव को उत्तेजित करता है जिससे अनियमित पीरियड्स की समस्या से निजात मिलती है साथ ही पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट दर्द से भी राहत मिलती है।

अदरक का रस 10 मिली, गुड़ 10 ग्राम, धनिया 5 ग्राम, अजवायन 5 ग्राम लें। इनके साथ ही, काला जीरा 5 ग्राम, दालचीनी5 ग्राम, इलायची, तथा मोथा 5-5 ग्राम लें। इनका गाढ़ा काढ़ा बना लें। काढ़ की 2-4 ग्राम की मात्रा सेवन करें। इससे खांसी, बुखार, बवासीर, टीबी आदि बीमारी में लाभ होता है। सांसों की बदबू की परेशानी में 5-10 ग्राम धनिया को नियमित रूप से चबाएं। इससे सांसों से आने वाली बदबू मिटती है।

बराबर-बराबर मात्रा में धनिया, और आंवला को रात भर पानी में भिगोकर, सुबह पीसें, और छान लें। इसमें मिश्री मिलाकर पीने से गर्मी से होने वाले सिर दर्द में आराम मिलता है। 
धनिया का गाढ़ा काढ़ा बना लें। इसे 6 ग्राम की मात्रा में रोज सेवन करें। इससे सिर दर्द में आराम होता है। 

धनिया के बीजों (coriander seeds) को पीसकर सिर में लेप करने से लाभ होता है। पित्त विकार के कारण होने वाले बुखार में 10 ग्राम धनिया, और 10 ग्राम चावल को रात भर भिगो दें। इस काढ़ा को 30 मिली मात्रा में सुबह-शाम पिलाने से बुखार में लाभ होता है। 

वजन कम करने में असरदार 
अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो धनिये के बीज का इस्‍तेमाल करने से फायदा होगा. इसके लिए आप तीन बड़े चम्‍मच धनिये के बीज एक गिलास पानी में उबालें. जब पानी आधे से कम हो जाए तो इसे छान लीजिए. इस पानी को रोजाना दो बार पीने से वजन घटने लगेगा. 

कॉलेस्ट्रोल से छुटकारा
धनिया में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर से कॉलेस्ट्रॉल कम कर उसे कंट्रोल में रखते हैं. रिसर्च के अनुसार अगर किसी को हाई कॉलेस्ट्रॉल की श‍िकायत है तो उसे धनिया के बीज उबालकर उस पानी को पीना चाहिए.

भगाए पेट की बीमरियां 
अगर आपको पेट से संबंधित कोई समस्या है तो दो कप पानी में धनिये के बीज, जीरा, चाय पत्ती और शक्कर डालकर अच्छे से मिला ले. इस पानी को पीने से एसिडिटी में आराम मिलता है. पेट में दर्द होने पर आधा गिलास पानी में दो चम्मच धनिया के बीज डालकर पीने से पेट दर्द से राहत मिलती है.

बढ़ाए डाइजेशन
हरा धनिया पेट की समस्याओं को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाता है. धनिए के ताजे पत्तों को छाछ में मिलाकर पीने से बदहजमी, मतली, पेचिश और कोलाइटिस में आराम मिलता है.  

डायबिटीज से आराम 
धनिए को मधुमेह नाशी यानी कि डायबिटीज को दूर भगाने वाला माना जाता है. इसका पानी पीने से खून में इंसुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है. 

नकसीर की दवा
हरे ताजे धनिया की लगभग 20 ग्राम पत्तियों के साथ चुटकी भर कपूर मिला कर पीस लें और रस छान लें. इस रस की दो बूंदें नाक के छेदों में दोनों तरफ टपकाने से और रस को माथे पर लगा कर हल्का-हल्का मलने से नाक से निकलने वाला खून बंद हो जाता है. 

आंखों के लिए फायदेमंद
धनिया के बीज आंखों के लिए भी फायदेमंद हैं. धनिया के थोड़े से बीज कूट कर पानी में उबालें. इस पानी को ठंडा करके मोटे कपड़े से छान लें और इसकी दो बूंदे आंखों में टपकाने से जलन, दर्द और पानी गिरना जैसी समस्याएं दूर होती हैं.

दूर होगी पीरियड्स की प्रॉब्‍लम
धनिया महिलाओं में पीरियड्स संबंधी समस्याओं को दूर करता है. अगर पीरियड्स साधारण से ज्यादा हो तो आधा लीटर पानी में लगभग 6 ग्राम धनिए के बीज डालकर खौलाएं. इस पानी में चीनी डालकर पीने से फायदा होगा. 

मुहांसों का रामबाण इलाज
धनिया त्वचा के लिए भी फायदेमंद है. धनिए के जूस में हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं और कुछ देर बाद धो लें. दिन में दो बार इस लेप का इस्तेमाल करने से बहुत जल्दी मुहांसों और दाग-धब्बों से छुटकारा मिलेगा और चेहरे की सुंदरता भी बढ़ेगी. घमौरियां होने पर धनिया के पानी से नहाना चाहिए. 

पेचिश में

 20 ग्राम धनिया को एक गिलास पानी में भिगोकर पीस छान लें। इसे सुबह पिएं।
धान्यक आदि द्रव्यों से बने धान्यक चतुष्क काढ़ा (15-20 मिली) का सेवन करें। इससे पित्त विकार के कारण होने वाले दस्त में लाभ होता है।

 जलन से राहत
अगर आपको पेशाब में जलन होती है तो धनिया के पत्तों का पानी पीने से आराम म‍िलेगा. धनिया के बीजों को भिगोकर पीसकर उसका पानी तैयार कर लें. इस पानी को पीने से शरीर के दाह खासकर पैरों की जलन में फायदा होता है.