ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
जिलाधिकारी ने ली गौचर की परामर्शी समिति की बैठक 
September 3, 2019 • सेवा भारत टाइम्स

जिलाधिकारी ने ली गौचर की परामर्शी समिति की बैठक 

   

(फोटो-3: बैठक के दौरान जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया)

सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 

चमोली। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) गौचर की परामर्शी समिति की बैठक लेते हुए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने छात्र हित में ठोस कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए। परामर्शी समिति ने वित्तीय वर्ष 2019-20 में डायट की प्रस्तावित कार्ययोजना एवं विभिन्न गतिविधियों हेतु 98.8 लाख बजट का अनुमोदन भी किया।

मंगलवार को क्लेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में प्रोग्राम एडवाइजरी कमेटी (पीएसी) डायट की बैठक संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने डायट को जिले में छात्रों के लिए वोकेशनल ट्रेनिंग प्रोग्राम को पाइलेट बेस पर शुरू करने की बात कही। 

उन्होंने कहा कि छात्र इन कोर्सेज के जरिए अपने हुनर को निखार सकते है। इन कोर्सेज को करने के बाद छात्रों को जल्द जाॅब मिल सकती है साथ ही अपना काम भी शुरू कर सकते है। उन्होंने शिक्षा अधिकारियों को वोकेशनल ट्रेनिंग के लिए कम से कम दो ट्रेड सलेक्ट कर जिले में पाइलेट बेस पर इसकी शुरूवात करने के निर्देश दिए।
बोर्ड परीक्षार्थियों की सुविधा एवं उनके मार्गनिर्देशन के लिए डायट को हर साल विभिन्न विषयों के माॅडल प्रश्न एवं उत्तर कुंजी तैयार करने को कहा। प्राथमिक विद्यालयों के छात्रों को नवोदय विद्यालय में प्रवेश परीक्षा हेतु भी माॅडूय तैयार करने के निर्देश दिए। 

इसके अलावा प्रत्येक वर्ष जिले के कम से कम 100 बच्चों को कैरियर काॅउसिलिंग हेतु प्रशिक्षण देने को कहा। डायट में संचालित शिक्षक प्रशिक्षण प्रोग्राम हेतु जिला शिक्षा अधिकारी को जिले में शिक्षकों को चयनित करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी मीडियम न होने के कारण हर साल छात्र संख्या कम हो रही है। कहा कि डायट को इस पर गहनता से रिसर्च करते हुए सरकारी स्कूलों में भी अंग्रेजी मीडियम की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु कार्य योजना तैयार करने की आवश्यकता है। उन्होंने जिले के सभी 27 प्राथमिक एवं जूनियर माॅडल स्कूलों में पाइलेट प्रोजेक्ट के तौर पर अंग्रेजी मीडियम में पढाई शुरू कराने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कहा कि प्राथमिक एवं जूनयिर माॅडल स्कूलों में पठन-पाठन के लिए अंग्रेजी मीडियम की किताबें, वाइट बोर्ड, फर्नीचर, खेलकूद समाग्री सहित सभी आवश्यक संशाधन शीघ्र ही उपलब्ध कराए जाएगें। 

 

उन्होंने सभी माॅडल स्कूलों में वाॅलपेंन्टिग का कार्य भी शीघ्र पूरा कराने के निर्देश शिक्षा अधिकारी को दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने डायट के प्रस्तावित कार्यक्रमों के लिए 72.4 लाख का आवर्ती बजट एवं 26.4 लाख का अनावर्ती बजट का अनुमोदन भी किया।

बैठक में डायट के प्राचार्य जीएस झिंक्वाण ने विगत वर्ष डायट में संचालित विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यक्रमों की प्रगति से जिलाधिकारी को अवगत कराया तथा इस वित्तीय वर्ष के लिए प्रस्तावित कार्यक्रमों की जानकारी दी।

इस अवसर पर सीईओ एलएम चमोला, डीईओ(मा0) आशुतोष भण्डारी, डीईओ(बे0) एनके हल्दियानी, डायट के प्रवक्ता, प्रवक्ता एलएस वर्तवाल, बीएस कण्डवाल, बीआरसी बीना भण्डारी, सीआरसी शशि बिष्ट, जिला समन्वयक नरेन्द्र सिंह खत्री, एनजीओ प्रतिनिधि जगमोहन चोपता आदि उपस्थित थे।