ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
चमोली के घाट क्षेत्र में बादल फटने से भारी नुकसान 6 की मौत
August 12, 2019 • seva bharath times

चमोली के घाट क्षेत्र में बादल फटने से भारी नुकसान 6 की मौत, विद्यालयों में कल रहेगा अवकाश l

हरीश मैखुरी
उत्तराखण्ड चमोली जनपद के घाट विकास नगर में चुफलगाड़ नदी में अतिवृष्टि के उफान से भारी नुकसान हुआ है। यहां चुफलगाड़ मुख्य बाजार के लिए खतरा बन गयी है। अनेक दुकान और मकान कटाव के कारण देखते देखते ढ़ह गये। यहीं लांखी गांव में भी बादल फटने व बज्रपात से मकानों को भारी नुकसान पहुंचा है। यदि इसी तरह भारी वर्षा हुई तो कर्णप्रयाग में भी यह स्थिति आ सकती है। नदी साईट कंट्रोल एक्ट को ताक पर रख कर नदी के पाटों को कब्जाने के दुष्परिणाम आपदा के रूप में हमारे सामने हैं। नदी के पाटों पर अतिक्रमण को प्रशासन व जिम्मेदार ऐजेंसियां गंभीरता से नहीं लेते, इसी वजह से भारी नुकसान होता है, और लोगों की जीवन भर की कमाई ही बर्बाद नहीं होती जान पर भी बन आती है। बाजबगड़ में एक मकान में भूस्खलन से मां बेटी व आली तोक में एक युवती की
 
 
 
                                                 
 
 
मौत हुई है। स्थानीय लोग व आपदा प्रबंधन टीम मौके पर रैस्क्यू कर रही है। आपदा कंट्रोल रूम के अनुसार तड़के बांजबगड़ मे बज्रपात हुआ,  बांजबगड़ में अब्बल सिंह का मकान मलबे में दब गया , घर के अंदर सो रही अब्बल सिंह की 35 वर्षीय पत्नी रूपा देवी व नौ माह की बेटी चंदा की दबकर मौत हो गई । आली गांव में भी भूस्खलन से नेनू राम का मकान दबा है। नेनू राम की 21 वर्षीय बेटी नौरती की  मौत हुई है। आपदा प्रबंधन टीम के साथ स्थानीय लोग रैस्क्यू में जुटे हैं । चुफलगाड़ के उफान पर होने से दो मकान व तीन दुकाने बह गई हैं
 
 
                                       
 
 
 
थराली के फल्दिया गांव में आपदा से हुई तबाही की घटना को लोग भूले भी नहीं थे कि बीती रात घाट क्षेत्र में बांजबगड गांव के ऊपर बदल फटने से आये मलवे में दबने से मौत का आंकड़ा 6 तक पहुंच गया। सूचना मिलने पर रेस्क्यू टीम घटना स्थल पंहुची अब तक मलवे में दबे 6 लोगों के शव बरामद किए गये। ज्यों ज्यों मनुष्य धरती पर अपने आराम के लिए आये दिन प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करता है, त्यों त्यों प्रकृति भी अब अपना रौद्र रूप दिखा रही है। उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में आये दिन बादल फटने की घटनाओं से यहां के लोग सहमे हुए हैं। लांखी गांव में एक मकान के मलबे की चपेट में आने से लोग जिंदा दफन हो गये। घटना की सूचना मिलने पर स्थानीय लोगो व आपदा प्रबंधन टीम ने मौके पर पहुंचकर रैस्क्यू से 6 शव बरामद किए हैं। क्षेत्र में बादल फटने से चुफलगाड़ व नंदाकिनी नदी के उफान से घाट में दो मकान व तीन दुकानें। बह गई.हैं । मौसम अभी भी खराब है हल्की बारिश जारी है । गत रात से हो रही बारिश से घाट ब्लाक में 6 मौतें व आवासीय मकान , व गौशालाओं , मवेशियों व दुकानों का भारी नुकसान हुआ है। थराली विधानसभा के घाट ब्लाक में हुई इस घटना की जानकारी मिलते ही थराली बिधायक मुन्नी देवी शाह घटना स्थल पर पहुंची और पीड़ितों से मुलाकात की, उन्होंने पीड़ित लोगों से मुलाकात कर हर सम्भव मदद का भरोषा दिलाया । डॉक्टरों की टीम समय से गांव में नहीं पहुंची तो उन्होंने दु:ख जताते हुए स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही पर नाराजगी ब्यक्त की। प्रभारी जिलाधिकारी हंसा दत्त पांडेय ने कहा कि मृतकों के शव बरामद कर दिए हैं। घटना स्थल पर ही पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है । पीड़ित लोगों को खाद्दय सामग्री दे दी गयी है। मदद के लिए मृतकों के परिजनों को सहायता के लिए चैक भी बांट दिए है । 
 
घाट क्षेत्र में आसमानी आफत के आने से हुई जनहानि पर रेस्क्यू में लगे पुलिस, जवानों व SDRF ने शवों को कब्जे में ले लिया है। उन्होंने कहा कि इस आसमानी आफत में 6 लोगो व 50 बकरियां, 4 भैंस, 2 गाय, की मौत हुई है। बेतरतीब और अंधाधुंध निर्माण के इस दौर में मनुष्यों को प्रकृति से छेड़छाड़ की कीमत जान देकर चुकानी पड़ रही है। मौसम विभाग द्वारा अगले 12 घंटों में राज्य में कहीं-कहीं विशेषकर देहरादून टिहरी पौड़ी नैनीताल चमोली रुद्रप्रयाग तथा पिथौरागढ़ जनपदों में तीव्र बौछार के साथ भारी वर्षा की संभावना व्यक्त की गई है।
           
जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने मौसम विभाग के उक्त अर्लट के दृष्टिगत जिले के सभी सरकारी /गैर सरकारी विद्यालयों (कक्षा 01 से 12 तक ) सहित सभी आंगवाडी केन्द्रों में कल दिनांक 13-08-2019 मंगलवार का अवकाश घोषित किया है।