ALL Sports Gadgets and Technology Automobile State news International news Business Health Education National news
उत्तराखण्ड के लिए नई सौगात
September 27, 2019 • मुख्य संपादक राजीव मैथ्यू

विश्व पर्यटन दिवस 2019 उत्तराखण्ड पर्यटन के लिए एक नई सौगात लेकर आया

सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 

नई दिल्ली / देहरादून l  विश्व पर्यटन दिवस 2019 उत्तराखण्ड पर्यटन के लिए एक नई सौगात लेकर आया। विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2017-18 समारोह में मुख्य अतिथि महामहिम श्री एम. वेंकैया नायडु, भारत के उपराष्ट्रपति एवं विशिष्ट अतिथि श्री जुरब पोलोलिकाश्विली,यू.एन.डब्ल्यू.टी.ओ.के महासचिव तथा पर्यटन/संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल, द्वारा उत्तराखण्ड राज्य को राष्ट्रीय फिल्म संवर्धन हितैषी राज्य पुरस्कार से सम्मानित किया। उत्तराखण्ड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, अपर सचिव पर्यटन, उत्तराखण्ड शासन सोनिका एवं संयुक्त निदेशक, उत्तराखण्ड पर्यटन पूनम चंद द्वारा यह पुरस्कार प्राप्त किया गया।

इसके साथ ही उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद द्वारा बी.एस.एफ. तथा हासा के सहयोग से मालदेवता में एक चार दिवसीय दूसरा मालदेवता पैराग्लाईडिंग ऐकोरेसी प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया गया, जिसका उद्घाटन महानिदेशक, कानून व्यवस्था अशोक कुमार द्वारा मालदेवता में किया गया।इसके अतिरिक्त अपरान्ह में पटेल नगर स्थित होटल मैनेजमेन्ट एवं कैटरिंग संस्थान में विभिन्न कार्यक्रम व संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

राज्य के नैसर्गिक सौन्दर्य और मनोहारी लोक संस्कृति के परिप्रेक्ष्य में उत्तराखण्ड को फिल्म निर्माण के क्षेत्र में देश के एक महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। भारत के सबसे सुन्दरतम राज्यों में से एक उत्तराखंड अनेक सुरम्य व मनमोहक स्थानों को खुद में समेटे हुए है जो फिल्म उद्योग के लिए आदर्श है। एक तरफ हिमालय की ऊँची-ऊँची चोटियाँ व उससे निकलने वाली गंगा, यमुना आदि सदानीर नदियाँ हैं, तो दूसरी तरफ देवदार, चीड़ आदि के घने जंगल। यहाँ वन्यजीवों से लेकर प्राचीन पुरातात्विक धरोहर, विश्व प्रसिद्ध चारधाम आदि मंदिरों से लेकर बर्फ से ढ़के पहाड़ किसी भी फिल्म की शूटिंग के लिए आदर्श पृष्ठभूमि प्रस्तुत करते हैं।
देश-विदेश के फिल्म निर्माताओं को फिल्म निर्माण के लिए आकर्षित करने के उद्देश्य से राज्य ने एकल खिड़की व्यवस्था के माध्यम से अपनी फिल्म शूटिंग नीति को आसान बना दिया है जैसे राज्य में निर्मित एवं प्रदर्शित होने वाली फिल्मों को प्रोत्साहन, मनोरंजन कर में छूट, अनुदान, निगम के पर्यटक आवास गृहों में 50 प्रतिशत छूट आदि। जिसके फलस्वरूप अनेक क्षेत्रीय एवं बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग उत्तराराखण्ड राज्य में की गई है।
मालदेवता में आयोजित चार दिवसीय दूसरे  मालदेवता पैराग्लाईडिंग ऐकोरेसी प्रतियोगिता में देशभर से 60 प्रतिभागियों द्वारा प्रतिभाग किया गया, जिसमें कि विभिन्न राज्यों अरूणाचल प्रदेश, सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली आदि पैराग्लाईडरों द्वारा अपनी योग्यता का प्रर्दशन किया गया।
उद्घाटन के अवसर पर बी.एस.एफ. के पैरा कमाडेंट राजकुमार नेगी द्वारा कार्यक्रम की रूपरेखा से अवगत कराते हुए बताया गया कि उत्तराखंड में पैराग्लाईडिंग की असीम संभावनाएं हैं। मालदेवता जैसे स्थान को पैराग्लाईडिंग हब के रूप में विकसित किया जा सकता है। आयोजन के दौरान एयर शो हॉट एयर बैलून, रॉक क्लाईमिंग साईकिलिंग इत्यादि गतिविधियों का भी प्रदर्शन किया गया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए हासा के अध्यक्ष शुभंग रतूड़ी द्वारा जानकारी दी गई है कि इस चार दिवसीय कार्यक्रम में पर्यटन हेतु टैंडम, पैराग्लाईडिंग, हॉट एयर बैलूनिंग और कल्चर प्रोग्राम का भी प्राविधान है। इस अवसर पर उत्तराखंड पर्यटन के प्रतिनिधी जसपाल सिंह चौहान द्वारा समारोह में उपस्थित पर्यटकों/प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए विश्व पर्यटन दिवस की शुभकामनाएं दी गई। उनके द्वारा अवगत कराया गया है कि उत्तराखंड पर्यटन साहसिक खेलों को प्रोत्साहित करने हेतु भरसक प्रयास कर रहा है।